Friday, June 11, 2021
HomeBiharसचिव गुट द्वारा बुलाए गए एसजीएम(SGM)पर वैशाली के सचिव प्रकाश सिंह ने...

सचिव गुट द्वारा बुलाए गए एसजीएम(SGM)पर वैशाली के सचिव प्रकाश सिंह ने उठाया सवाल?संजय कुमार से पूछे तीन सवाल? देखे


वैशाली 25 मई: बिहार क्रिकेट एसोसिएशन की गुटबाजी से पूरा बिहार क्रिकेट जगत सहित बीसीसीआई भी परेशान है। इस गुटबाजी को हल करने की बीसीसीआई ने कोशिश भी की थी लेकिन हुआ ओहि जो पहले हो रहा था। बीते 24 मई 2021 को बीसीए सचिव संजय कुमार गुट ने एक एसजीएम की बैठक की जिसकी अध्यक्षता प्रेम रंजन पटेल ने की थी। इसमें कहा गया था कि 32 जिला संघ सहित 5 एसोसिएट सदस्य भी भाग लिया और कई एजेंडो पर चर्चा हुआ कई पदों पर के नियुक्ति एवं चुनाव कराने का निणर्य भी किया गया।

बैठक की खबर पढ़े  : https://khelbihar.com/2021/05/24/bca-secretary-faction-has-been-appointed-to-many-posts-of-sgm-see/

सचिव गुट द्वारा बुलाये गए मीटिंग के बाद वैशाली जिला क्रिकेट संघ सचिव प्रकश सिंह ने सचिव संजय कुमार मंटू को खिलाड़ियों और जिला में भ्रम पैदा ना करें की सलाह दी है। और उन्होंने इस बैठक पर तंज कशते हुए तीन सवाल भी संजय कुमार से किया है। चलिए देखते है इन तीन सवालो को?

वैशाली जिला क्रिकेट संघ के सचिव प्रकाश सिंह ने संजय कुमार से पूछे 3 सवाल

1)लोढ़ा कमेटी का अगर ज्ञान आपको है, तो यह बताएं कि लोढ़ा कमेटी में कहां कहा गया है, की कमेटी ऑफ मैनेजमेंट के 8 सदस्य होते हुए भी सचिव अकेला पूरा कमेटी भी चला लेता है, और एसजीएम भी अकेले ही करा लेता है, क्या यह बेवकूफ बनाने वाली बात नहीं? अगर यह एस जी एम था तो बीसीए के और सदस्य क्यों वहां नहीं थे?

2) जिन जिलों का सचिव घोटाला रिश्वतखोरी लिस्ट और 9साल से ज्यादा से है, यह कौन सा लोढ़ा कमेटी में लिखा हुआ है, यह लोग कैसे लोढ़ा कमेटी के अनुरूप हो गए? किस कमेटी ऑफ मैनेजमेंट के 8 में से 5 सदस्य जिन निर्णय पर मुहर लगाएंगे वही कमेटी ऑफ मैनेजमेंट में मान्य होता है। आप अकेले किस आधार पर एस जी एम बुला लेते हैं? कभी मैच करवाने कभी कुछ लोढ़ा कमेटी के किस नियम से प्राप्त यह सब शक्ति आपको प्रदान की गई है?

3) लोढ़ा कमेटी में कहां दिया गया है की आप जिला संघ हस्तक्षेप कर सकते हैं? किस अधिकार के तहत कर सकते हैं? आपको पॉकेट की कमेटी चलानी है, और बिहार को फिर उसी एडहॉक कमेटी के हाथ में सौंप देंगे? इससे किसी खिलाड़ियों का भला नहीं होगा, और बिहार फिर एक बार गर्त में चला जाएगा। कल के डेट में आप बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरव गांगुली और अमित शाह को भी बर्खास्त कर सकते हैं, यह कोई बड़ी बात नहीं होगी अगर यह आपके द्वारा किया जाए तो और अपने आप को बीसीसीआई अध्यक्ष घोषित कर सकते हैं।

सभी को बोलने की आजादी है, आपके इस तरह के कार्य से खिलाड़ियों को कितनी परेशानी होती है, यह आप नहीं समझते, खिलाड़ियों को परेशान करना बंद करें और झूठ मुठ का यह जो करके बिहार क्रिकेट एसोसिएशन जो 2019 में चुनी हुई कमेटी है, के सभी सदस्य निष्कासित सचिव ( आपको) छोड़कर एक साथ काम कर रहे हैं, और सभी जिला संघ उनके निर्णय साथ दे रहे हैं यह लोग खिलाड़ियों और जिला संघ से दिग्भ्रमित करना चाहते हैं, जो कि अब यह संभव नहीं है।



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments

error: Content is protected !!