Wednesday, May 12, 2021
HomeBiharसीएबी सचिव ने पत्र लिख बीसीसीआई से बिहार में मांग की एडहॉक...

सीएबी सचिव ने पत्र लिख बीसीसीआई से बिहार में मांग की एडहॉक कमिटी,BCCI की एपेक्स कॉउंसिल की बैठक आज


पटना 16 अप्रैल: बिहार क्रिकेट एसोसिएशन के तत्काल स्तिथि को देखते हुए क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ़ बिहार के सचिव आदित्य ,आदित्य वर्मा ने एक बार फिर बीसीसीआई के सचिव जय शाह सहित पुरे एपेक्स कॉउंसिल के सदस्यों को एक पत्र लिखा है और बिहार में क्रिकेट की भलाई के लिए एडहॉक कमिटी की मांग की है।

आपको बता दे की आज ही बिहार क्रिकेट संघ पर बीसीसीआई का बड़ा फैसला होना है। आज बीसीसीआई की एपेक्स कॉउंसिल की बैठक होनी है जिसमे बीसीए द्वारा बीसीसीआई से बिना मान्यताप्राप्त बिहार क्रिकेट लीग का आयोजन किया था जो अब बीसीसीआई के एपेक्स कॉउंसिल की बैठक में चर्चा के लिए शामिल किया गया है। आज बिहार क्रिकेट एसोसिएशन व बिहार क्रिकेट जगत के लोगो का नजर इस बैठक पर बनी है आखिर क्या निणर्य होगा।

श्री वर्मा ने पत्र विन्दुवार बिहार क्रिकेट की समस्या से बीसीसीआई को अवगत कराते हुए एडहॉक की मांग की है। उन्होंने लिखा है ” वर्तमान बिहार क्रिकेट एसोसिएशन जो चालन में है उसका रजिस्ट्रेशन नहीं है। इसके अलावे वर्तमान में बीसीए अध्यक्ष और सचिव के बीच जो हालत है जिसके कारण बिहार के खिलाड़ियों का टीए ,डीए ,लगभग दो साल से नहीं मिला है

आगे उन्होंने बीसीएल का जिक्र करते हुए लिखा है ” बिना बीसीसीआई के अनुमति के बीसीए ने 20 मार्च 2021 से 26 मार्च 2021 तक बिहार क्रिकेट लीग का आयोजन पटना में किया। जिसमे पांच फ्रेंचाइजी ने टीमों को ख़रीदा तथा प्रत्येक टीम का खर्ज 75 लाख रूपये था। जिसमे 13 मैचों को यूरोस्पोर्ट्स पर लाइव भी किया गया। इसके रोक के लिए बीसीसीआई के सीईओ ने पत्र भी लिखा था लेकिन बीसीए ने पूरी तरह से उसे अनदेखा करते हुए लीग को सम्पन कराया।

उन्होंने लिखा है ,बीसीए के ऑफिसियल ने बीसीसीआई के नियमो को थोड़ा है और इन सभी पर बीसीसीआई को एक्शन लेना चाहिए बीसीसीआई के नियम के आगे को भी बड़ा नहीं है। और बीसीएल में भाग लेने वाले खिलाड़ियों को मांफ कर देना चाहिए क्योकि बीसीए के ऑफिसियल ने इन्हे बीसीएल के मान्यताप्राप्त न होने की जानकारी से दूर रखा।



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments

error: Content is protected !!