नैनीताल 30 मई: उत्तराखंड के लैप्ट आर्म स्पिन गेंदबाज मयंक मिश्रा ने इंग्लैंड में काउंटी क्रिकेट में अपनी गेंदबाजी का जलवा बरकरार रखा है। मूल रूप से रुद्रपुर व विगत 3 वर्ष से हलद्वानी के लालडॉट निवासी मयंक मिश्रा अपनी पत्नी के साथ यही रहते है और 5 वर्षो से हलद्वानी कोल्ट्स क्रिकेट अकेडमी में क्रिकेट के गुर सीखे है।

अब उन्होंने हलद्वानी में ही जीएनजी एरिना क्रिकेट अकेडमी कमलवागाजा हलद्वानी से जुड़ गये है। उत्तराखंड की टीम में आलराउंडर खिलाड़ी के रूप में पहचान बनाने वाले मयंक मिश्रा उत्तराखंड के लिये हैट्रिक लेने वाले पहले गेंदबाज है और 3 वर्षों से उत्तराखंड की टीम का हिस्सा है उसके अलावा उन्होंने बल्लेबाजी में भी समय समय पर अपनी उपयोगिता सिद्ध की है।

इंग्लैंड में 55 ओवर के इस मैच में उनकी टीम फ़िलेडैल्फ़िया ने 5 विकेट खोकर 205 रन बनाये उनके टीम के सलामी बल्लेबाज शॉन हॉक्सवैल ने 10 चौके की मदद से सबसे ज्यादा 78 रन बनाये,जबाब में ब्लेडोन क्रिकेट क्लब की पूरी टीम 135 रन पर पवेलियन लौट आई ,और 70 रन से मैच हार गई,टीम के प्रमुख खिलाड़ी मयंक मिश्रा की फिरकी गेंदों में उलझ कर पेवेलियन लौट आये मयंक ने 14.5 ओवर में 6 मेडन ओवर के साथ 20 रन देकर 5 विकेट झटके। मयंक के सहयोगी गेंदबाजों में साहिब खां और एडम एमसीगुरि ने 2–2 विकेट लिये।

मयंक मिश्रा ने दूरभाष पर जिला नैनीताल क्रिकेट एशोसिएशन के कोषाध्यक्ष कमल पपनै से बात करते हुऐ बताया कि कल उनका अगला टी -20 मैच डरहम क्रिकेट क्लब से होगा,मयंक मिश्रा के प्रदर्शन से उनके कोच मनोज भट्ट,नवीन टम्टा,निश्चल जोशी ,अनूप जखमोला काफी गदगद दिखे ओर आगे भी उसके अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद जताई,

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here