Thursday, May 13, 2021
HomeBiharबीसीए पर उठे सवाल ?बीसीसीआई के बिना अनुमति के बीसीए ने बिहार...

बीसीए पर उठे सवाल ?बीसीसीआई के बिना अनुमति के बीसीए ने बिहार क्रिकेट लीग के लिए खिलाडियों को बेचा,


पटना 2 मार्च : बिहार क्रिकेट एसोसिएशन एक बार फिर सवालों के घेरे में आ गया है .इस बार भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) ने ही बिहार क्रिकेट संघ के काम पर सवाल खड़ा कर दिया है.आपको बता दे की बीते 27 फ़रवरी को पटना के मुर्या होटल्स में बिहार क्रिकेट संघ द्वारा बिहार क्रिकेट लीग के लिए खिलाडियों को बोली (ऑक्शन )लगाया गया जिसमे बिहार के करीब 100 खिलाडियों पर बोली लगाई गई और इन खिलाडियों को बीसीएल की के पांच फ्रेंचाइजी टीमें अंगिका एवेंजर्स, भागलपुर बुल्स, दरभंगा डायमंड्स, गया ग्लैडिएटर्स और पटना पायलट्स ने ख़रीदा . बीसीएल 21 से 27 मार्च के बीच पटना में होना है मैचों का एक निजी खेल चैनल पर प्रसारण किया जाएगा.

अब बीसीएल के ऑक्शन के बाद बीसीसीआई ने बिहार क्रिकेट संघ पर सवाल खड़ा कर दिया है की जब बीसीसीआई ने बिहार क्रिकेट लीग कराने की मंजूरी बिहार क्रिकेट संघ को नही दिया है तो कैसे शनिवार को खिलाडियों का ऑक्शन आयोजित किया गया . KHABAR.NDTV.COM के अनुसार बीसीसीआई के राज्यस्तरीय लीग को मंजूरी देने से जुड़े एक वरिष्ठ अधिकारी ने गोपनीयता की शर्त पर पीटीआई से कहा, ‘जहां तक मैं जानता हूं बिहार क्रिकेट संघ (बीसीए) को 28 फरवरी की शाम तक किसी टी20 लीग के आयोजन को लेकर कोई मंजूरी नहीं दी गयी है.

जब बीसीए के अध्यक्ष राकेश तिवारी से जब इस बारे में सवाल किया गया तो उन्होंने उसे बहुत टालने का प्रयास किया. तिवारी ने कहा, ‘हमने बीसीसीआई से अनुमति मांगी थी लेकिन अभी तक हमें कोई जवाब नहीं मिला है.’ लेकिन बीसीए अनुमति मिलने का इंतजार नहीं कर पाया क्योंकि कर्नाटक और तमिलनाडु प्रीमियर लीग से जुड़े विवादों के बाद बीसीसीआई ने इसमें एक महीने से भी अधिक समय लगा दिया है. तिवारी ने कहा, ‘मैं आपसे कल बात करूंगा.’

टूर्नामेंट के आयोजन में बीसीए की मदद करने वाले एलीट स्पोर्ट्स के निशांत दयाल ने कहा कि उन्हें बताया गया कि राज्य संघ ने बीसीसीआई से 22 जनवरी को मंजूरी देने के लिये कहा था. उन्होंने कहा, ‘बीसीसीआई के नियमों के अनुसार बिहार क्रिकेट संघ ने 22 जनवरी को पत्र भेज दिया था. हमने बीसीसीआई एसीयू को टूर्नामेंट के सहज आयोजन में मदद करने के लिये भी पत्र लिखा था.’ कर्नाटक और भारत ए के पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज सीएम गौतम और पूर्व आईपीएल खिलाड़ी अबरार काजी को कर्नाटक प्रीमियर लीग में फिक्सिंग में लिप्त होने के लिये गिरफ्तार किया गया था जिसके बाद राज्यस्तरीय लीग पर विशेष निगरानी रखी जा रही है. शनिवार को नीलामी में पूर्व भारतीय खिलाड़ियों मदन लाल और सबा करीम ने भी हिस्सा लिया था. करीम हाल तक बीसीसीआई के क्रिकेट संचालन महानिदेशक भी थे.



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments

error: Content is protected !!