Saturday, May 8, 2021
HomeBiharबिहार के खिलाडी शशिम राठौर पर सीएबी सचिव आदित्य वर्मा को गाली...

बिहार के खिलाडी शशिम राठौर पर सीएबी सचिव आदित्य वर्मा को गाली देने और जान से मारने का आरोप?


पटना 5 मार्च: क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ़ बिहार के सचिव द्वारा आज राजधानी पटना में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस रखा गया जिसमे सीएबी सचिव ने बिहार के सीनियर टीम के खिलाडी शशिम राठौर पर आरोप लगाते हुए बताया की उन्होंने मैच के दौरान सीएबी सचिव आदित्य वर्मा, बेटा लखन राजा ,सहित पुरे परिवार को फ़ोन पर गाली गलोच और जान से मारने की धमकी दी थी।

सीएबी सचिव द्वारा जारी प्रेस विग्यप्ति में क्रिकेटर शशिम राठौर पर आरोप लगाया गया है कि खिलाड़ी शशीम रठौर के द्वारा सारे सीमाओं को तोड़ कर विजय हजारे ट्राफी के अंतर्गत बिहार और केरल के बीच खेले गए अंतिम मैच 28.02.21 को बेंगलोर मे जो हरकत किया है उसकी जितनी भी निंदा की जाए वह कम है । मैच के दौरान कम रन पर आउट होने के बाद शशीम रठौर ने मैदान में उपस्थित टीम के खिलाड़ी के रूप मे मौजुद मेरे(आदित्य वर्मा)के लड़के लखन राजा को भद्दी भद्दी गाली देना शुरू कर दिया, मेरे नाम से मेरे बेटे को गाली देने लगा । स्थिति को देख कर बिहार टीम के हारने के बाद मेरा बेटा अपनी टीकट कटा के बेंगलोर से पटना के लिए निकल पड़ा । रास्ते में भी उसने फोन पर मेरे बेटे को गाली देने लगा था ।

उन्होंने विग्यप्ति में बताया की शाम को 5 बजे के बाद मेरे मोबाइल पर इस लड़के ने मुझे कॉल कर मुझे ,मेरी पत्नी ,मेरी माँ को भी लगाकर गाली देने लगा। मेरी पत्नी ने बिहार सरकार के वरिष्ठ पुलिस पदाधिकारी को अचानक इस तरह से कॉल कर गाली तथा जान से मारने की धमकी से घबराकर फोन कर बता दिया । उनके ही कहने के बाद अपने एरिया के पुलिस थाना पाटलीपुत्र के थाना प्रभारी को जा कर सारी बातो से अवगत कराते हुए एक सनहा दर्ज करा दिया । मामला चूकि बिहार क्रिकेट टीम के खिलाड़ी से जुड़ा हुआ था इसीलिए मैने बिहार क्रिकेट संघ के अध्यक्ष को भी एक पत्र लिख कर अवगत करा दिया था ।

सीएबी के नालंदा यूनिट के सचिव मो अरशद जेन को जैसे यह पता चला उसने शशीम रठौर को कॉल कर पुछने की कोशिश किया तो उसे भी गंदी गंदी गाली देने लगा । हद तो तब हो गई जब यह पता चला कि अपने खिलाड़ियों को बैठा कर गाली देते हुए विडियो भी अपना बनवा के उसे वायरल कर दिया । क्रिकेट जैसे जेंटेलमैन गेम मे एक खिलाड़ी के द्वारा अपने टीम के जूनियर खिलाड़ी के माता , पिता तथा बूढी दादी को गाली देना सही है क्या ?

वर्मा ने कहा पता चला है कि कुछ साल पहले भी यह लड़का झारखंड टीम के खिलाड़ी के रूप मे ऐसी ही हरकत के कारण 2 साल का प्रतिबंध झेल चुका है। मैने कानून के रास्ते पर चलते हुए सबुत के रूप मे कॉल का आडियो टेप सहित कुछ महत्व पूर्ण कागज थाना प्रभारी पाटलीपुत्र को दे दिया है। भारतीय कानून के दंड प्रक्रिया के तहत थाना ने एक नन एफआईआर , 2,3 , तथा 107 का मुकदमा दर्ज कर लिया है । थाना जा कर शशीम रठौर ने अपने पिता के साथ एक बांड भर के लिखित रूप से वादा किया है कि भविष्य मे ऐसे किसी भी प्रकार की गलती वे करते है तो वे सजा भुगतने के लिए तैयार है ।

मैने बिहार क्रिकेट संघ के अध्यक्ष को भी लेटर दे कर कारवाई सुनिश्चित करने की निवेदन किया है । बीसीए अगर अगले सात दिन मे न्याय नही देता है तो मैं बीसीसीआई से लेकर भारत सरकार के सामने ऑडियो भेज कर न्याय के लिए मांगूंगा।आज के प्रेस सम्मेलन में आदित्य वर्मा , मो अरशद जेन , मुकेश कुमार प्रिंस सीएबी के लीगल सलाहकार पटना हाई कोर्ट के सम्मानित वकिल चंद्रशेखर वर्मा के साथ पटना के खेल प्रेमीयों की भीड़ बीसीए के अध्यक्ष से न्याय के लिए गुहार लगाया।



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments

error: Content is protected !!